कलेक्टर एवं पुलिस अधीक्षक ने महाकाल मन्दिर में व्यवस्थाओं का जायजा लिया

Collector and Superintendent of Police reviewed the arrangements in Mahakal temple

महाशिवरात्रि पर्व  दर्शनार्थियों को भगवान महाकाल के सुलभ एवं सुव्यवस्थित दर्शन की व्यवस्था चाक-चौबन्द

उज्जैन। महाशिवरात्रि पर्व ग्वालियर पंचाग के आधार पर तय तिथि के अनुसार मंगलवार 13 फरवरी को मनाया जायेगा। पूरे देश में महाशिवरात्रि पर्व 14 फरवरी को मनाया जायेगा परन्तु उज्जैन श्री महाकालेश्वर मंदिर में 13 फरवरी को बडे धूमधाम के साथ मनाया जायेगा। महाशिवरात्रि पर्व पर दर्शनार्थियों को भगवान महाकाल के दर्शन बगैर व्यवधान के सुलभ व सुव्यवस्थित तरीके से कराये जाने के लिए प्रशासन ने तैयारी पूरी कर ली है। महाकाल मंदिर में की जा रही व्यापक तैयारियों का जायजा सोमवार को एडीजीपी व्ही.मधुकुमार, संभागायुक्त  एम.बी. ओझा, कलेक्टर  संकेत भोंडवे, पुलिस अधीक्षक  सचिन अतुलकर सहित अन्य पुलिस, राजस्व तथा विभिन्न विभागों के अधिकारियों ने लिया। संभागायुक्त, एडीजी, कलेक्टर और पुलिस अधीक्षक ने इसके पश्चात महाकालेश्वर अन्नक्षेत्र में भोजन प्रसादी भी ग्रहण की।

इसके पश्चात कलेक्टर और पुलिस अधीक्षक ने सोमवार की शाम को कंट्रोल रूम से महाकाल मंदिर के मुख्य गेट से माधवसेवा न्यास पार्किंग स्थल, मुख्य प्रवेष द्वार, शंख द्वार, फेसेलिटी सेन्टर के झिकझेक, टनल, मार्बल गलियारा और सभामंडप का पुन: जायजा लिया और संबंधित अधिकारियों को व्यवस्था के संबंध में आवष्यक दिषा निर्देष दिये।

दर्शन व्यवस्था इस प्रकार रहेगी

महाशिवरात्रि पर्व पर सामान्य दर्शनार्थियों की दर्शन व्यवस्था हरसिद्धी चौराहे से लाईन में लगकर बडा गणेश मंदिर के सामने, पुलिस चौकी के सामने, माधवसेवा न्यास पार्किंग स्थल के झिकझेक से होते हुए मुख्यप्रवेश द्वार से होकर फेसेलिटी सेन्टर के झिकझेक होते हुए टनल, मार्बल गलियारा, सभामंडप होते हुए भगवान श्री महाकाल के दर्शन करेंगे। इसी प्रकार विशेष दर्शन 250 रूपये की टिकिट लेने वाले दर्शनार्थी, पासधारी, वी.आई.पी. के लिए प्रवेश शंख द्वार के सामने फेसेलिटी सेन्टर से प्रवेश रहेगा। दिव्यांजन, असहाय का प्रवेश पुलिस चौकी के पास भस्मार्ती 4 नम्बर गेट से रहेगा।

श्रद्धालुओं के जूता स्टेण्ड गत वर्ष की भांति इस वर्ष भी हरसिद्धी चौराहे के समीप विक्रम टीला के सामने, महाराज वाडा पार्किंग परिसर, माधवसेवा न्यास पर स्थापित किये जायेंगे। इस व्यवस्था का प्रभार उज्जैन विकास प्रधिकरण के मुख्य कार्यपालन अधिकारी को सौंपा गया है।

मीडिया के लिए प्रवेश भस्मार्ती द्वार से

महाशिवरात्रि पर्व पर इलेक्ट्रानिक एवं प्रिन्ट मीडिया के कव्हरेज के लिए व्यवस्थाएं सुनिश्चित की गई है। प्रवेश के लिए पासधारी मीडिया के लिए भस्मार्ती काउन्टर गेट नम्बर 4 पुलिस चौकी के समीप से रहेगा। मीडिया के प्रवेश पास श्री महाकालेश्वर मंदिर प्रबंध समिति की जनसंपर्क शाखा से जारी किये गये है। किसी भी प्रकार की समस्या आने पर जनसम्पर्क अधिकारी से मोबाइल नम्बर 9425379653 पर सम्पर्क किया जा सकता है।

महाकाल मंदिर के आसपास का क्षेत्र नो व्हीकल झोन रहेगा

महाशिवरात्रि पर दर्शनार्थियों को असुविधा से बचने के लिए मार्गों एवं पार्किंग स्थलों का उपयोग करने का अनुरोध प्रशासन द्वारा श्रद्धालुओं से किया गया है। महाकाल मंदिर के आसपास का क्षेत्र नो व्हीकल झोन रहेगा। नो व्हीकल झोन कोट मोहल्ला से महाकाल मंदिर, बेगमबाग से यादव धर्मशाला, हरसिद्धी से बड़ा गणेश मंदिर से 4 नम्बर गेट तक, 24 खम्बा मंदिर से महाकाल थाना तक, बडा गणेश मंदिर की गली, इंटप्रिटेशन सेन्टर से गरीब नवाज कॉलोनी एवं निर्गम द्वार तक तथा बेगमबाग सीमेन्टेड रोड से रूद्र सागर तक रहेगा।

पार्किंग व्यवस्था

महाशिवरात्रि पर्व पर इन्दौर और देवास से आने वाले वाहनों के लिये हरिफाटक ब्रिज की टी (तीसरी भुजा) से होकर चारधाम मंदिर पर पार्किंग की व्यवस्था की गई है। इसी प्रकार बडनगर रोड से आने वाले वाहन मुल्लापुरा, शंकराचार्य चौक से नृसिंह घाट ब्रिज से नृसिंहघाट रोड, कार्तिक मेला ग्राउण्ड एवं झालरिया मठ के सामने मैदान, उन्हेल एवं आगर रोड की ओर से आने वाले वाहन चामुण्डा माता चौराहे से होते हुए हरिफाटक ब्रिज की टी से चारधाम मंदिर पार्किंग स्थल पर आ सकेंगे। इसी प्रकार वी.आई.पी. के वाहन हरिफाटक ब्रिज की टी से इंटरप्रिटेशन सेन्टर के समीप होते हुए गरीब नवाज होकर माधव सेवा न्यास के पीछे पार्किंग स्थल रहेगा। इन्दौर रोड से आने वाली बसों के लिए लालपुल ब्रिज होकर नृसिंह घाट कार्तिक मेला ग्राउण्ड में पार्किंग व्यवस्था की गई है। इसी तरह पुराने शहर ढाबा रोड, कार्तिक चौक, कहारवाड़ी से आने वाले वाहन हरसिद्धी पाल एवं चौबीस खंबा माता रोड पर पार्किंग व्यवस्था की गई है। उल्लेखनीय है कि चारधाम मंदिर पर स्थापित किये गये पार्किंग स्थल के भर जाने के बाद इंटरप्रिटेशन सेन्टर से जयसिंहपुरा होकर नृसिंह घाट रोड पर पार्किंग व्यवस्था रहेगी। यह स्थल भी भर जाने के बाद कार्तिक मेला ग्राउण्ड के पार्किंग स्थल पर व्यवस्था की जायेगी।

परिवर्तित मार्ग

महाशिवरात्रि पर हरिफाटक ब्रिज की टी से बेगमबाग की ओर वाहन नहीं आयेंगे। दौलतगंज से कोट मोहल्ला की ओर वाहन नहीं आयेंगे। निकास चैराहा से तेलीवाडा की ओर वाहन नहीं आ सकेंगे। हरसिद्धी पाल से चौबीस खंबा माता की ओर से वाहन नहीं आ सकेंगे। कमरी मार्ग से गुदरी की तरफ वाहन मंदिर की ओर नहीं आ सकेंगे। इसी प्रकार हरसिद्धी पाल से सवारी मार्ग एवं गुदरी की तरफ वाहन नहीं आ सकेंगे।

कलेक्टर ने निर्देश दिये हैं कि दिशा चिन्हों और पार्किंग के लिये अलग-अलग स्थानों पर फ्लेक्स लगाये जायें। पार्किंग की व्यवस्था का आमजन में प्रचार-प्रसार किया जाये, ताकि महाशिवरात्रि के दिन ट्रैफिक व्यवस्था से किसी तरह की असुविधा न हो। रेलवे स्टेशन और बसस्टेण्ड पर आने वाले श्रद्धालुओं को भी उस दिन के यातायात के बारे में जानकारी दें।

रेलवे स्टेशन व बसस्टेण्ड पर विशेष कंट्रोल रूम बनाये जायेंगे, जिनमें फर्स्टएड किट, अन्य आवश्यक दवाईयां, स्ट्रेचर, व्हीलचेयर और मेडिकल स्टाफ की तैनाती की जायेगी। कंट्रोल रूम में माइक की व्यवस्था भी रहेगी। विभिन्न स्थानों पर पीने के पानी और अस्थाई शौचालय की भी व्यवस्था की जायेगी। महाकालेश्वर मन्दिर के पूरे प्रांगण में भी दिशा चिन्हों के फ्लेक्स लगाये जायेंगे।

कलेक्टर ने स्पष्ट रूप से कहा है कि मन्दिर में दर्शन व्यवस्था संभालने के दौरान प्रांगण के अन्दर कोई सीटी का उपयोग नहीं करेगा। मन्दिर के बाहर जो लोग पूजन सामग्री बेचने के लिये फुटपाथ पर बैठेंगे, उन्हें सख्ती से हटाया जायेगा। महाशिवरात्रि के दिन मन्दिर के आसपास लगी स्थाई दुकानों के दुकानदार भी अपना सामान दुकानों के अन्दर ही रखें। बाहर स्टॉल लगाकर यदि सामान बेचा गया तो दुकान को सील करने की कार्यवाही की जायेगी।

कलेक्टर ने कहा है कि वे और अन्य अधिकारी बाहर के कंट्रोल रूम में मौजूद रहकर पूरी स्थिति पर नजर बनाये रखेंगे। महाशिवरात्रि में ड्यूटी पर लगाये गये अधिकारियों और विशेष कर्त्तव्यस्थ अधिकारियों को समिति द्वारा आईकार्ड उपलब्ध कराये जायेंगे। आईकार्ड वितरण हेतु नोडल अधिकारी श्री आरके तिवारी रहेंगे।

बताया गया कि पिछली बार की शिवरात्रि की तुलना में इस बार प्रशासन द्वारा शेल्टर और रिसोर्सेस बढ़ाये जायेंगे। विभिन्न स्थानों पर सीसीटीवी कैमरा भी लगाये जायेंगे। गर्भवती माताओं को भगवान के आसानी से दर्शन हो सकें, इसके लिये उनके सहायक के तौर पर सीडीपीओ और आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं की तैनाती की जायेगी। अतिविशिष्ट व्यक्ति के अचानक आगमन की स्थिति में एक कारकेट को रिजर्व रखने के लिये कहा गया है। मन्दिर के आसपास स्वास्थ्य केन्द्रों में एम्बुलेंस और स्वास्थ्य विभाग के चिकित्सक और नर्सेस को तैनात करने के लिये कहा गया है। इमर्जेंसी डॉक्टरों की एक टीम कंट्रोल रूम में भी मौजूद रहेगी।

महाशिवरात्रि पर मीडिया कवरेज में पत्रकारों को किसी भी तरह की असुविधा नहीं आने दी जायेगी। दोपहर में होने वाली भस्म आरती के कवरेज के लिये वीडियो रिकार्डिंग हेतु दो से तीन ट्रायपॉड मन्दिर में लगाये जायेंगे, जो फिक्स रहेंगे। कलेक्टर ने कहा है कि महाशिवरात्रि के दौरान 15 ई-रिक्शा भी श्रद्धालुओं के आवागमन के लिये लगाये जायेंगे। यह सेवा पूर्णत: नि:शुल्क रहेगी। बेगमबाग के पास खोयापाया केन्द्र बनवाया जायेगा। शिवरात्रि के दौरान मन्दिर के अन्दर एकसाथ चार से ज्यादा पट चलेंगे। वनवे से चारों पट चलाये जायेंगे।

मन्दिर के आसपास सभी प्रमुख मार्गों पर मोटे और चौड़े रेड कारपेट भी डाले जायेंगे। कलेक्टर ने सभी अधिकारियों से अपील की है कि महाशिवरात्रि के दिन ड्यूटी पर तैनात अधिकारी-कर्मचारियों पर अतिरिक्त दबाव और तनाव की स्थिति रहती है, इसलिये किसी भी स्थिति में धैर्य सदैव बनाकर रखें। छोटी-बड़ी हर समस्या से वरिष्ठ अधिकारियों को कंट्रोल रूम में अवगत करायें। ये बड़े सौभाग्य की बात है कि हमें उज्जैन में भगवान महाकालेश्वर के मन्दिर में काम करने का मौका मिला है, इसलिये ड्यूटी को महज औपचारिकता न मानते हुए भगवान महाकाल की सेवा मानकर करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

CAPTCHA