मृत पशु उठाने की आड़ में गौमांस व अंग बेचने के विरोध में प्रदर्शन

Demonstration against sell of beef and organ in the garb of lifting dead animals
उज्जैन। मृत पशु उठाने की आड़ में गौमांस व अंग विक्रय कर हिंदुओं की धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंचाने के मामले में तत्काल रोक लगाने की मांग को लेकर अ.भा. हिंदू महासभा एवं म.प्र. युवा शिव सेना गौरक्षा न्यास द्वारा प्रदेश अध्यक्ष मनीषसिंह चौहान के नेतृत्व में इंदौर नगर निगम कमिश्नर को ज्ञापन सौंपा गया।
मनीषसिंह चौहान के अनुसार ज्ञापन में कहा गया कि इंदौर नगर में मृत पशुओं को उठाने का कार्य करने का ठेका दिया गया है जबकि अब तक यह कार्य परंपरागत रूप से जागिरी प्रथा के तहत किया जाता रहा है लेकिन निगम द्वारा अपने राजस्व में वृध्दि के लिए किया गया यह कार्य स्वीकार्य नहीं है। उक्त ठेका कार्य की आड़ में ठेकेदार द्वारा मृत पशु को सिर्फ उठाने का कार्य नहीं किया जा रहा है बल्कि अपने अधिकार क्षेत्र से बाहर जाकर गायों की चमड़ी, मांस, हड्डी आदि सभी अंग अलग कर उनको बाहर बेचा जा रहा है। ये मांस सूखाकर ठेकेदार मछली पालन केन्द्रवालों को व पोल्ट्री फार्म वाले को बेचते हैं जहां इस मांस को मुर्गे, मुर्गी खाते हैं। जिससे हिंदूओं की धार्मिक भावनाओं को क्षति पहुंच रही है। यह बेहद गंभीर तथा हिंदूओं के धैर्य की परीक्षा लेने वाला कृत्य है। जबकि हमारे ही प्रदेश के भोपाल में गायों के मरने पर उनको दफनाने की व्यवस्था नगर निगम ने की है जिससे गायों के मरने के उपरांत उनका व्यापार न हो सके। गौरतलब है कि गाय को हिंदू धर्म में माता का दर्जा दिया गया है ऐसे में गायों के नाम पर ऐसा व्यापार पूरी तरह अनुचित है। मनीषसिंह चौहान के साथ ज्ञापन देने पहुंचे प्रांतीय उपाध्यक्ष हरी माली, प्रदेश मंत्री राहुल मोड़ावत, महामंत्री जितेन्द्र ठाकुर, सचिव जगदीश वर्मा, संभाग अध्यक्ष महेन्द्रसिंह बैस, जिलाध्यक्ष न्यास आशीष गौड़, संभाग उपाध्यक्ष महासभा सुरेश पाठक, प्रांतीय उपाध्यक्ष नंदकिशोर पाटीदार, महानगर उपाध्यक्ष मुकेश गुप्ता, संभाग अध्यक्ष निरपालसिंह, जिला संगठन मंत्री अशोक सेन, सोनू यादव, पवन बाडोलिया, पप्पूनाथ मकवाना, विकास गोयल ने मांग की कि तत्काल ही ठेका निरस्त किया जाकर संबंधित ठेकेदार के विरूध्द ठेका शर्तों का उल्लंघन व अनुचित व्यवसाय हेतु प्रकरण दर्ज कर ब्लेकलिस्टेड किया जाए अन्यथा न्यास द्वारा आंदोलन किया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

CAPTCHA