फुकरे रिटर्न्स फुकरे वाली बात नही आई रिटर्न्स में

Fukru Returns Fukiragata does not come in the returns

समीक्षक/इदरीस खत्री।निर्देशक :- मृगपाल सिंह लाम्बा निर्माता :- रितेश सिधवानी, फरहान अख्तर कलाकार :- ऋचा चड्ढा, पुलकित सम्राट, वरूण शर्मा, प्रिया आनन्द, अली फैज़ल, पंकज त्रिपाठी, विशाखा समय :- 2 घण्टे 15 मिंट कहानी पिछली फिल्म से ही शुरू की गई है भोली पंजाबन (ऋचा) को जेल हो चुकी है वह जेल से एक नेता से साँठ गाँठ करके बाहर आने में कामयाब हो गई है  अब उसका दो ही उद्देश्य है फुकरे गैंग से बदला लेना और पैसा कमाना चूचा (वरूण शर्मा) का सपने देखना जारी है ओर हनी (पुलकित) का उन्हें जोड़ना  इसमे ओर भोली की बदला लेने में कई हास्य पैदा होता है  चूचा के सपनो को अमेरिकन फ़िल्म डेज़ा वू से जोड़ के चूचा वू बनाया गया बीडेज़ा वू में भविष्य में होने वाली घटना कुछ समय पूर्व ही पात्र को दिख जाती है ठीक वैसे ही चूचा वू को सपने दिखते हैं अब फुकरे गैंग ओर भोली मिलकर पैसा कमाना चाहते है  फ़िल्म में इसी के चलते अच्छा हास्य पैदा हुवा है
पहला हाफ तेज लेकिन दूसरा हाफ पहले के मुकाबले थोड़ा सुस्त लगा है अदाकारी की बात करे तो ऋचा ने साथ ही पुलकित ने शानदार किरदार पकड़े है  वरूण शर्मा और मनजोत भी कामयाब रहे है  वरूण की मासूमियत के साथ शातिराना अंदाज आपको हसने पर मजबूर कर देगा पंकज त्रिपाठी लाजवाब से भी ऊपर है | अब अंत मे क्या फुकरे रईस बन पाते है  क्या चूचा अपने प्यार को पा पाता है  या फुकरे फिर किसी मुसीबत में पड़ जाते है इसके लिए आपको फ़िल्म देखनी पड़ेगी  फ़िल्म को 1200 स्क्रीन्स मीले है | बजट 8 करोड़ ओर प्रमोशन मार्केटिंग मिला कूल 30 करोड़ |
फ़िल्म के साथ 3 ओर फिल्मे रिलीज हुई है, सल्लू की शादी, द ग्रेट लीडर, गेम ओवर  लेकिन तीनो फिल्मे लो बजट है  पिछले हफ्ते भी कोई खास फ़िल्म नही थी तो फ़िल्म बजट निकाल लेगी  फिर भी फ़िल्म से पहली फुकरे की उम्मीद लेकर न जाए  फिर भी फ़िल्म हँसाने में कामयाब है

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

CAPTCHA