गोल्ड जीता गांव की बिटिया ने

Gold won the village's bitia

घटिया तहसील के गांव बिछड़ौद की प्रभा शर्मा ने ताइक्वांडो में जीता गोल्ड मेडल

उज्जैन। यदि कड़ी मेहनत, लगन और जीतने का जुनून हो तो  असुविधाएं किसी की जीत के आगे नहीं आ सकती। गांव की मुश्किलों के बीच भी यदि जीतने का जज्बा हो तो स्वर्णिम सफलताएं हासिल की जा सकती हैं। जीत का ऐसा ही जज्बा दिखाया है एक गांव की बिटिया ने, जिसने हाल ही में उज्जैन में आयोजित राज्य स्तरीय गोल्ड कप ताइक्वांडो प्रतियोगिता में गोल्ड मेडल जीता।

उज्जैन जिले की घटिया तहसील के गांव बिछड़ौद की निवासी प्रभा शर्मा ने राज्यस्तरीय ताइक्वांडो गोल्ड कप प्रतियोगिता में सीनियर कैटेगरी में 44 किलोग्राम वजन वर्ग में राज्य स्तरीय गोल्ड मेडल जीता। संगिनी समूह अध्यक्ष व ताइक्वांडो की नेशनल रैफरी ममता सांगते ने बताया प्रभा ने गांव में रहकर भी तमाम असुविधाओं के बीच अपने हौसले, हिम्मत और कड़ी मेहनत के बूते राज्यस्तरीय स्पर्धा में स्वर्ण पदक जीता।

गांव की बेटियों के लिए संदेश तमाम अभावों के बावजूद प्रभा शर्मा का गोल्ड मेडल जीतना सभी ग्रामीण बच्चियों के लिए संकेत है कि असुविधाओं व मुश्किलों के बीच भी यदि मेहनत करने का जज्बा और जीतने का जुनून हो तो फिर आपसे जीत कोई नहीं छीन सकता।

पढ़ाई भी, जॉब भी और तैयारी भी प्रभा ने कड़े संघर्ष के बीच यह गोल्ड मेडल जीता है। वह इन दिनों कॉलेज की पढ़ाई भी कर रही है और अपनी पढ़ाई का खर्च उठाने के लिए जॉब भी। तमाम व्यस्तताओं के बावजूद वह रोज 3 घंटे प्रैक्टिस करती है।