रामघाट एवं दुर्गादास की छत्री के पम्पिंग स्टेशन का निरीक्षण किया

Inspect the pumping station canopy Ramghat and Durga

प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के अध्यक्ष एवं प्रमुख सचिव श्री अनुपम राजन ने
रामघाट एवं दुर्गादास की छत्री के पम्पिंग स्टेशन का निरीक्षण किया
उज्जैन। पर्यावरण विभाग के प्रमुख सचिव एवं म.प्र.प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के अध्यक्ष श्री अनुपम राजन ने बोर्ड के वरिष्ठ अधिकारियों एवं नगर निगम के अधिकारियों के साथ रामघाट एवं वीर दुर्गादास की छत्री के पास बने गन्दे नाले के पम्पिंग स्टेशन और नाले का निरीक्षण किया। इस दौरान अधिकारियों को निर्देश दिये कि खान नदी एवं शिप्रा नदी की कार्य योजना तैयार की जाये। पर्यावरण में सहयोग करने वाली संस्थाओं एवं स्थानीय व्यक्तियों का सहयोग लिया जाये। श्री राजन ने रामघाट पर निरीक्षण के दौरान स्थानीय व्यक्तियों एवं पण्डे-पुजारियों से चर्चा की और उन्हें नदी संरक्षण एवं पर्यावरण संरक्षण में सबका सहयोग अपेक्षित है, इसलिये नदी में गन्दगी न हो, इसका विशेष ध्यान दिया जाये, ताकि नदी का जल साफ-सुथरा रह सके। श्री राजन ने इस सम्बन्ध में कहा कि एक कार्यशाला आयोजित की जाये, जिसमें स्थानीय विशिष्टजनों को पर्यावरण सुधार के बारे में विस्तृत जानकारी देकर नदी में पूजन सामग्री के निर्माल्य के बारे में अवगत कराया जाये।
प्रमुख सचिव पर्यावरण विभाग श्री अनुपम राजन ने आज रामघाट आरती द्वार से लेकर छोटे पुल तक का निरीक्षण किया। शिप्रा नदी के पानी का नमूना लेकर भी देखा। इसके बाद जूना सोमवारिया दुर्गादास की छत्री के समीप नाले का और पम्पिंग स्टेशन का निरीक्षण कर अधिकारियों को आावश्यक दिशा-निर्देश दिये। श्री राजन ने प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के अधिकारियों से उज्जैन शहर के गन्दे नालों के बारे में जानकारी प्राप्त की। अधिकारियों ने अवगत कराया कि शहर में प्रमुख 13 गन्दे नाले हैं। शहर में गन्दे नालों के नौ पम्पिंग स्टेशन हैं। इन पम्पिंग स्टेशनों से शिप्रा नदी के पार ग्राम सदावल में गन्दा पानी पहुंचाकर फिल्टर किया जाता है। श्री अनुपम राजन ने इसके पूर्व महाकाल मन्दिर के फेसिलिटी सेन्टर की छत पर ‘अनवरत परिवेशीय वायु गुणवत्ता प्रबोधन केन्द्र’ का अवलोकन कर जानकारी प्राप्त की। इसके बाद इन्दौर रोड के ग्राम राघौपिपल्या के समीप खान नदी डायवर्शन पाइन्ट का अवलोकन किया।
इस अवसर पर म.प्र.प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड भोपाल के सदस्य सचिव श्री एएन मिश्रा, आंचलिक अधिकारी श्री पीके त्रिवेदी, क्षेत्रीय अधिकारी उज्जैन श्री एचएस मालवीय, अधीक्षण यंत्री श्री हंसकुमार जैन, नगर पालिक निगम के कार्यपालिक यंत्री श्री धर्मेन्द्र वर्मा, बोर्ड की वरिष्ठ वैज्ञानिक डॉ.शोभा धानीकर आदि उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

CAPTCHA