लहसुन व प्याज की भावान्तर योजना में प्रोत्साहन राशि देने की तैयारी करने के निर्देश संभागायुक्त ने टीएल बैठक ली

Instructions for preparing for the encouragement amount in the Bhantnar scheme of garlic and onion  Captured took TL meeting

उज्जैन । संभागायुक्त  एमबी ओझा ने उद्यानिकी विभाग के संयुक्त संचालक एवं मंडी विभाग के अधिकारियों को निर्देशित किया है कि वे लहसुन एवं प्याज के भावान्तर योजना के अन्तर्गत 30 जून के बाद किसानों को दी जाने वाली प्रोत्साहन राशि को खातों में जमा करने के सम्बन्ध में आवश्यक तैयारियां अभी से कर लें। उन्होंने निर्देशित किया है कि किसी भी किसान के खाता नम्बर एवं आईएफएससी कोड गलत नहीं होना चाहिये। संभागायुक्त ने आज बृहस्पति भवन में संभागीय अधिकारियों की बैठक लेकर विभिन्न योजनाओं की समीक्षा की। बैठक में उपायुक्त राजस्व श्री पवन जैन एवं विभिन्न संभागीय अधिकारी मौजूद थे।

बैठक में लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग द्वारा जानकारी दी गई कि संभाग के 84 प्रतिशत हैण्ड पम्प चालू हालत में हैं तथा 95 प्रतिशत नल जल योजनाएं संचालित की जा रही हैं। बैठक में बताया गया कि उज्जैन नगर निगम में एक दिन छोड़कर पानी दिया जा रहा है तथा कालापीपल, नलखेड़ा एवं सुसनेर में पेयजल का परिवहन करना पड़ रहा है। संभागायुक्त ने संभाग में आयोजित किये जाने वाले रोजगार मेलों के बारे में जानकारी प्राप्त की तथा निर्देश दिये कि सभी जिलों में रोजगार मेलों का आयोजन गंभीरता से किया जाये। सरकार का लक्ष्य बेरोजगारों को रोजगार से जोड़ना है। बैठक में जानकारी दी गई कि उज्जैन जिले में विगत दिवस आयोजित रोजगार मेले में 541 अभ्यर्थियों को रोजगार से जोड़ा गया है। संभागायुक्त ने बैठक में मुख्यमंत्री हेल्पलाइन की लम्बित शिकायतों की समीक्षा की तथा निर्देश दिये कि सभी विभागीय अधिकारी यह सुनिश्चित करें कि हितग्राहीमूलक योजनाओं में दिये जाने वाले लाभ को लेकर कोई भी शिकायत लम्बित नहीं रहना चाहिये।

संभागायुक्त ने खाद, बीज एवं दवाईयों की उपलब्धता के बारे में सम्बन्धित अधिकारियों से पूछताछ की तथा निर्देश दिये कि संभाग में बीज, खाद की कोई कमी नहीं होना चाहिये। उद्यानिकी विभाग द्वारा बताया गया कि इस मानसून सत्र में उनके द्वारा 182 हेक्टेयर में पौधारोपण किया जायेगा। संभागायुक्त ने सभी विभागीय अधिकारियों को निर्देशित किया है कि वे उनके विभाग द्वारा किये गये भू-अर्जन का विवरण रेवेन्यू रिकार्ड में दर्ज करवायें।