क्या निर्दलीय को समझाना ज्योतिरादित्य की जिम्मेदारी नहीं,? कांग्रेसी कार्यकर्ताओं में चर्चा

Is not the responsibility of Jyotiraditya to explain independence? Discussion in Congress workers

क्या निर्दलीय को समझाना ज्योतिरादित्य की जिम्मेदारी नहीं,? कांग्रेसी कार्यकर्ताओं में चर्चा

उज्जैन ।विधानसभा चुनाव में इस बार कांग्रेस बड़े आक्रमक ढंग से चुनाव मैदान में उतरी है कांग्रेस आलाकमान ने ज्योतिरादित्य सिंधिया और कमलनाथ को आगे कर चुनावी रणनीति तैयार की, ऐसे प्रश्न उठता है कि क्या निर्दलीय उम्मीदवारों को चुनाव मैदान से हटाने में क्या ज्योतिरादित्य सिंधिया की कोई भूमिका नहीं होनी चाहिए, उज्जैन उत्तर में जहां माया त्रिवेदी तो दक्षिण में जयसिंह दरबार ने निर्दलीय उम्मीदवार के रूप में पर्चा भरा है ऐसे में कांग्रेस कार्यकर्ताओं के बीच चर्चा का विषय है कि जब ज्योतिरादित्य सिंधिया कल उज्जैन आ रहे हैं और उज्जैन उत्तर के कांग्रेस प्रत्याशी राजेंद्र भारती के समर्थन में सभा और रैली करने वाले हैं तो क्या उनकी जिम्मेदारी नहीं है कि वह माया त्रिवेदी और जयसिंह दरबार को कांग्रेस के पक्ष में कार्य करने के लिए राजी करें और चुनाव मैदान से उन्हें हटाए कांग्रेश से जुड़ें लोगों का कहना है कि भाजपा और कांग्रेस में बस यही फर्क है यहां नेता अपने अपने लोगों को चुनाव जिताने में लगे रहते हैं परिणाम स्वरूप सभी को हार का मुंह देखना पड़ता है,जबकि भाजपा में पूरा संगठन हर काम को करने को तैयार रहता है