अब गूँजेगी चार महीने से बंद शहनाई

Now the clarinet has been closed for four months

19 नवम्बर से गूँजेगी चार महीने से बंद शहनाई यद्यपि भगवान क्षणभर भी सोते नही, फिर भी भक्तों की भावना-‘यथा देहे तथा देवे’ के अनुसार भगवान चार मास शयन करते हैं। भगवान विष्णु के क्षीरशयन के […]

जानें कब और कैसे होता है तुलसी विवाह, क्या है महत्व

Know when and how Tulsi marriage happens, what is the importance

कार्तिक शुक्ल एकादशी के दिन लोग तुलसी विवाह का आयोजन करते हैं। जो इस वर्ष शुक्रवार 8 नवम्बर 2019 को पड़ रही है। तुलसी वैष्णवों के लिए परमाराध्य पौधा है। कोई-कोई तो भगवान के श्रीविग्रह […]

सविता और षष्ठी दोनो की एक साथ उपासना का महापर्व छठ

सविता और षष्ठी दोनो की एक साथ उपासना का महापर्व छठ

सांसारिक जनों की तीन एषणाएँ प्रसिद्ध हैं- पुत्रैषणा, वित्तैषणा तथा लोकैषणा। भगवान् सविता प्रत्यक्ष देवता हैं, वे समस्त अभीष्टों को प्रदान करने में समर्थ हैं- किं किं न सविता सूते । समस्त कामनाओं की पूर्ति […]

जानें किन घरों में होता है लक्ष्मी का वास

Laxmipuja

दीपावली की रात्रि में विष्णुप्रिया लक्ष्मी सद्गृहस्थों के घरों में विचरण कर यह देखती हैं कि हमारे निवास योग्य घर कौन कौन से हैं? और जहाँ कहीं उन्हे अपने निवास की अनुकूलता दिखायी पड़ती है, […]

जानें क्या हैं करवा चौथ के विधि-विधान और पायें अखण्ड सौभाग्य

जानें क्या हैं करवा चौथ के विधि-विधान और पायें अखण्ड सौभाग्य

यह व्रत कार्तिक कृष्ण की चन्द्रोदयव्यापिनी चतुर्थी को किया जाता है। करवाचौथ का व्रत तृतीया के साथ चतुर्थी उदय हो, उस दिन करना शुभ है। तृतीया तिथि ‘जया तिथि’ है। इससे पति को अपने कार्यों […]

शरद पूर्णिमा 13 अक्टूबर को  जाने इस पर्व का महत्व…

शरद पूर्णिमा 13 अक्टूबर को  जाने इस पर्व का महत्व...

शरद पूर्णिमा की रात को सबसे उज्जवल चांदनी छिटकती है। चांद की रोशनी में सारा आसमान धुला नज़र आता है। ऐसा लगता है मानो बरसात के बाद प्रकृति साफ और मनोहर हो गयी है। इसी […]

नवरात्र की वैज्ञानिकता

नवरात्र की वैज्ञानिकता

  शरद्वसन्तनामानौ दानवौ द्वौ भयंकरौ। तयोरुपद्रवशाम्यर्थ पूजां द्विधा मता।। अर्थात् शरद् एवं वसन्त नाम के दो भयंकर दानव विभिन्न रोगों के कारण हैं, इन ऋतु- परिवर्तनों के समय विभिन्न रोग- महामारी, ज्वर, शीतला, कफ, खाँसी […]

सन्तान का दाता तथा ऐश्वर्य को बढ़ाने वाला ‘बहुला चौथ’ का व्रत

Fasting of 'Bahula Chauth', the giver of children and the one who increases the glory

भाद्रपद मास के कृष्ण पक्ष की चतुर्थी बहुला चतुर्थी या बहुला चौथ कहलाती है। जो इस वर्ष सोमवार 19 अगस्त को पड़ रही है। इस व्रत को पुत्रवती स्त्रियाँ पुत्रों की रक्षा के लिए करती […]