कत्लखानो,मांस की दुकान वालों से नगर निगम डरती है ?

my-siti-news-ujjain-logo

उज्जैन। नगर निगम महाकाल क्षेत्र से कत्लखाने मांस मदिरा की दुकाने हटाने में असफल रही पवित्र नगरी के लिए यह कलंक है, नगर निगम मांस की दुकाने व कत्लखाने संचालित करने वाले दुकानदारों को हटाने के लिए की हिम्मत नहीं कर पा रही है। जिसके कारण पवित्र नगरी में श्रद्वालुओं को असहनीय पीड़ा होती है। प्रशासन द्वारा कार्यवाही नहीं करने पर स्वर्णिम भारत मंच के कार्यकर्ता स्वयं जाकर कत्लखानों पर तालाबंदी करेंगे इसके लिए  आज शाम को ५ बजे शहीद पार्क पर बैठक का आयोजन किया जा रहा है जिसमें तालाबंदी आंदोलन की तैयारी पर चर्चा की जाएगी।
स्वर्णिम भारत मंच के दिनेश श्रीवास्तव ने कहा कि नगर निगम कत्लखाने मंास मदिरा के व्यापारियों से मिली हुई है इसलिए तीन सालों से हम आंदोलन कर रहे हैं पर नगर निगम महाकाल के आस-पास के कत्लखाने मांस की दुकाने नहीं हटा पा रही है जबकी शहर में अन्य कार्यवाही के लिए गरिबों पर बर्बरता की जा रही है अब स्वर्णिम भारत मंच उग्र आंदोलन करने पर विवश हो चुका  है।
 क्यो डरती है नगर निगम
पवित्र नगरी में वैध/अवैध कत्लखाने, मांस मदिरा की दुकाने बे रोक टोक संचालित हो रही है, नगर निगम की और से आश्वासन दिये जाने पर भी कार्यवाही नहीं हुई। पिछले दिनों राष्ट्र संत कमलमुनि जी महाराज को नगर निगम आयुक्त ने 7 दिन में कत्लखानें, मांस, मदिरा की दुकानें हटाने के लिये आश्वासन दिया था। परंतु 1 माह बितने के बाद भी नगर निगम कार्यवाही करने को तैयार नहीं है। इससे व्यथित होकर स्वर्णिम भारत मंच कत्लखानों पर ताला लगाने के लिये आंदोलन करेगा। इसकी तैयारी को लेकर 7 मई रविवार बैठक का आयोजन किया गया है। इसमें व्यापक आंदोलन की रणनीति तैयार की   जाएगी इसके बाद कत्लखानों पर ताले लगाने के लिए सड़क पर कार्यकर्ता उतरेंगे।