हिन्दू नववर्ष गुड़ी पड़वा का आयोजन एवं अखिल भारतीय कवि सम्मेलन संपन्न

Organizing Hindu New Year Gudi Padwa and concluding All India Poet Conference
उज्जैन। सांस्कृतिक हिन्दू सेवा उत्सव समिति, उज्जैन के तत्वावधान में नववर्ष प्रतिपदा उत्सव के उपलक्ष्य में संकट मोचन हनुमान मंदिर शंकरपुर, मक्सी रोड, उज्जैन में विशाल कवि सम्मेलन संपन्न हुआ। इस अवसर पर विभिन्न सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन किया गया, जिसमें सुन्दरकाण्ड, विचार संगोष्ठी में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के उज्जैन विभाग के विभाग प्रचारक श्री विनय दीक्षित ने जन सामान्य को सम्बोधित करते हुए नववर्ष प्रतिपदा का महत्व व विश्वगुरु भारत वर्ष की प्राचीन परम्परा व उत्कर्ष विषय पर प्रकाश डाला व मानवीय मूल्यों की रक्षा के लिए युवाओं का आह्वान किया।
संत संगोष्ठी में राष्ट्रीय संत श्री रामेश्वरदास जी ने भी अपने विचार व्यक्त करते हुए पुण्य भूमि भारत  की विशिष्ट पहचान व गो रक्षा का आह्वान किया। समाज में संतो की भूमिका को स्पष्ट किया, तत्पश्चात भारत माता की आरती की गई।
कवि सम्मेलन का प्रारंभ रतलाम से आई कवियत्री सुमित्रा सरल ने सरस्वती वंदना कर किया। भोपाल से आए कवि निलेश चतुर्वेदी ने हास्य पेरोडी के माध्यम से अपना काव्य पाठ किया। ओज के कवि हुकुम पाँचाल ने राम मंदिर शीर्षक से अपनी कविता प्रस्तुत की। तराना के कवि सुनील गाईड ने विशुद्ध व्यंग्य में अपना काव्य पाठ किया। रुलकी से आए कवि दिनेश पाटीदार देशी घी ने हँसा हँसा कर श्रोताओं को लोट पोट कर दिया। प्रतापगढ़ राजस्थान के विजय विद्रोही ने भी अपने चुटीले अंदाज में हास्य व्यंग्य की कविता पढ़ी। वीर रस के प्रसिद्ध कवि मुकेश मोलवा ने अपनी ओजस्वी कविताओं से खूब दाद बटोरी। रतलाम की कवियत्री सुमित्रा सरल और संचालक लक्ष्मण रामपुरी के बीच जमकर नोंक झोंक व गीत ग़ज़ल से श्रोताओं को बहुत आनंदित किया। शीर्षस्थ कवि के रूप में अंतर्राष्ट्रीय कवि प्रोफेसर राजीव शर्मा ने शीर्षस्थ कवि के रूप काव्य पाठ किया और मंच कर अपनी गरिमामय उपस्थिति दर्ज कराई। आपने हास्य व्यंग्य आदि के साथ सार्थक रचनाओं का पाठ किया।
कवि सम्मेलन का संचालन युवा हास्य व्यंग्य कवि लक्ष्मण रामपुरी, रामपुरा ने किया। समिति द्वारा कवियों व अतिथियों का शाल-श्रीफल व स्मृति चिन्ह भेंट कर सम्मान किया। कार्यक्रम का आभार पप्पू चौधरी ने व्यक्त किया। यह जानकारी समिति के अध्यक्ष पवन पांचाल ने दी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

CAPTCHA