आरक्षक ने बेवजह की यात्रियों, होटल मैनेजर से मारपीट

Rakshak assaulted passengers, hotel managers

आरक्षक ने बेवजह की यात्रियों, होटल मैनेजर से मारपीट
सीसीटीवी में कैद हुई घटना-थाना प्रभारी, एसपी, आईजी, गृहमंत्री को की शिकायत

01__2_
उज्जैन। शुक्रवार-शनिवार की दरमियानी रात 2.20 बजे आरक्षक सचिन जाट ने एक अन्य आरक्षक के साथ मिलकर रेलवे स्टेशन के समीप स्थित किशोर रेस्टोरेंट में घुसकर यात्रियों से गाली गलौच की तथा लट्ठ घुमाते हुए यात्रियों पर लट्ठ बरसा दिये। यह घटना दुकान के सीसीटीवी में कैद हो गई। दुकान के मैनेजर ने इस मामले की शिकायत आईजी, एसपी, थाना प्रभारी के साथ पत्र के माध्यम से गृहमंत्री से भी की है। 
जयसिंहपुरा निवासी जितेन्द्र माली ने बताया कि वह किशोर रेस्टोरेंट पर मैनेजर के पद पर पिछले 5 वर्षों से काम करता रहा हूं। आए दिन आरक्षक सचिन जाट एवं एक अन्य आरक्षक गाली गलौच करते हुए खर्चा पानी देने का दबाव बनाते हैं। इसी के चलते शुक्रवार-शनिवार की दरमियानी रात 2.20 बजे दुकान में घुसकर मुझे केश काउंटर पर ही थप्पड़ मारा और कॉलर पकड़कर पुलिस वेन में बैठाकर देवासगेट थाने ले गया और कहा कि अभी आचार संहिता लगी है, अब तुम्हें बताता हूं आचार संहिता क्या होती है, और कौन नेता तुम्हे छुड़ाने आता है, पुलिस की गुंडागर्दी दिखाता हूं। जितेन्द्र ने बताया कि आरक्षक मुझ पर धारा 151 की कार्रवाही करने पर उतारू हो गया। तब मेरे भाई द्वारा बीच-बचाव करते हुए बातचीत की और मुझे सुबह 6 बजे छोड़ दिया गया। जितेन्द्र ने बताया कि पुलिस आरक्षक द्वारा कान खींचते एवं थप्पड़ मारते समय कान की सोने की बाली गिर गई जिसकी जानकारी रात में ही थाने पर दीवानजी को दे दी थी। जितेन्द्र ने बताया कि रात में रेलवे स्टेशन पर ही किसी अन्य का झगड़ा हुआ था जिससे मेरा कोई लेना देना नहीं था लेकिन महज सिर्फ उलझाने के लिए और खर्चा पानी के चक्कर में मेरे साथ आरक्षक द्वारा मारपीट की गई। जितेन्द्र ने थाना प्रभारी देवासगेट, एसपी, आईजी के साथ गृहमंत्री से शिकायत कर आरक्षक सचिन जाट एवं उसके साथी पर कठोर कार्रवाई की मांग की है।