सुष्मिता मुखर्जी के नाटक ‘नारीबाई’ का मंचन 28 को

Sushmita Mukherjee's play 'Naribai' staged on 28th

सुष्मिता मुखर्जी के नाटक ‘नारीबाई’ का मंचन 28 को

इंदौर। अभिनव रंगमंडल द्वारा 28 फ़रवरी को स्थानीय आनंद मोहन सभागृह में जानी-मानी फिल्म और टीवी अभिनेत्री सुष्मिता मुखर्जी के नाटक ‘नारीबाई’ का मंचन किया जा रहा है। राष्ट्रीय नाट्य समारोह के तहत इस नाटक का मंचन इंदौर के साथ उज्जैन में भी किया जाएगा। बुंदेलखंड की एक बेड़नी (वेश्या) और एक ब्लॉग लेखक के साथ एक महिला सूत्रधार से जुड़े इस नाटक की लेखक, निर्देशक भी सुष्मिता मुखर्जी ही हैं। सुष्मिता ने बताया कि नाटक में एक औरत की व्यथा कथा को दर्शाया गया है। नाटक ‘नारीबाई’ एक सोलो एक्ट ही और सच्ची कहानी पर आधारित है। इस नाटक में अंग्रेजी और ब्रजभाषा का मेल दिखाया गया है। इसमें सुष्मिता मुखर्जी ने अपनी स्कूली दोस्त सुनयना की जिंदगी को दर्शाया है जो बहुत पढ़ी लिखी और अमीर है। उसका पति उसे वेश्या ‘नारीबाई’ पर नॉवेल लिखने को कहता है। सुनयना अपनी अमीरी छोड़कर उसके कच्चे घर में जाकर रहने लगती है। उसे वहां काफी गंदा माहौल दिखाई देता है। वहां रहने वाले लोगाें और बातचीत के तरीके को भी वो करीब से देखती हैं। ये सब सुनयना अपनी कहानी में लिखती हैं। इसके साथ ही ‘नारीबाई’ की जिंदगी की परतें खुलनी शुरू होती हैं। इसके बाद एक औरत और बाजार के बीच का रिश्ता और इंसान से सामान बन जाने की कहानी जन्म लेती है। इस नाटक की प्रस्तुति मुंबई की नाट्य संस्था ‘नाटक कंपनी’ ने की है।Sushmita Mukherjee's play 'Naribai' staged on 28th
‘करमचंद’ में पंकज कपूर के साथ किटी का किरदार निभाकर शोहरत बटोरने वाली अदाकारा सुष्मिता मुखर्जी पिछले तीन दशकों से एक्टिंग की दुनिया में है।
टीवी सीरियल ‘करमचंद’ में पंकज कपूर के साथ किटी का किरदार निभाकर शोहरत बटोरने वाली अभिनेत्री सुष्मिता मुखर्जी को लोग आज भी ‘किटी’ के नाम से ही पहचानते हैं। किटी यानी सुष्मिता मुखर्जी का अपना एक दर्शक वर्ग है। दर्शकों ने सुष्मिता को निगेटिव व पॉजीटिव हर तरह के किरदारों में हमेशा पसंद किया गया है। अब वे फिल्मों और टीवी सीरियल्स के साथ स्टेज पर भी अपनी प्रस्तुति देने के लिए समय निकलने लगी हैं। इंदौर और उज्जैन में वे पहली बार अपनी संस्था ‘नाटक कंपनी’ के साथ आ रही हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

CAPTCHA