पत्रकार पर हमला करने वाले आरोपियों की गिरफ्तारी अब तक नहीं ..

The arrest of the accused who attacked the journalist is not yet.

पत्रकार पर हमला करने वाले आरोपियों की गिरफ्तारी अब तक नहीं ..
मीडिया कर्मियों ने थाना घेरा

उज्जैन ।आखिर शिवराज सरकार एक और तो प्रेस से सहयोग की अपेक्षा कर रही है तो वहीं दूसरी और प्रेस कर्मी पर हमला होता है तो पुलिस प्रकरण दर्ज करने में आनाकानी करने के साथ ही आरोपियों को पकड़ने की बजाय उन्हें बचाने में लगी हुई है उज्जैन पत्रकार जय कौशल पर नगर निगम उपयंत्री राजेश सिंह चौहान के इशारों पर उनके गुंडों ने प्राणघातक हमला किया जिसमें वह गंभीर रूप से घायल हो गए सीएचएल मेडिकल हॉस्पिटल में जिंदगी और मौत के बीच में अपना उपचार करा रहे हैं ऐसे में उज्जैन पुलिस का नकारात्मक रवैया सबके सामने है,पुलिस ने दो आरोपियों के नामजद होने के बाद केवल मामूली सी धाराओं में प्रकरण दर्ज किया ताकि वह थाने से जमानत पर छूट जाएं इस सब के चलते सिटी प्रेस क्लब सहित अन्य पत्रकार साथियों ने पत्रकार जय कौशल के हमलावरों की गिरफ्तारी की मांग और धारा 307 दर्ज करने की मांग को लेकर नीलगंगा थाने का 4 घंटे तक घेराव किया वरिष्ठ अधिकारी केवल आश्वासन दिलाते रहे, पत्रकार शैलेंद्र कुल्मी ने कहा कि पत्रकारों पर हमले हो रहे हैं और पुलिस अधिकारी केवल जांच की नौटंकी भर कर रहे हैं पत्रकार निरुक्त भार्गव, रमेश दास गोपाल भार्गव , महेंद्र सिंह बेस राजेश कुलमी आनन्द निगम अजय पटवा डॉ सचिन गोयल अनिल तिवारी सहित सैकड़ों पत्रकारों ने इस हमले की कड़ी निंदा करते हुए थाने के सामने धरने पर बैठने के अलावा यहां पुलिस प्रशासन के खिलाफ जमकर नारेबाजी की पत्रकार उमेश चौहान के अनुसार यदि जल्द से जल्द आरोपियों की गिरफ्तारी और धारा 307 में मुकदमा दर्ज नहीं हुआ तो सभी पत्रकार भोपाल में मुख्यमंत्री निवास पर धरना देंगे