नाला निर्माण विवाद में उलझे पार्षद और निगम अफसर।

Mysitinews

नाला निर्माण विवाद में उलझे पार्षद और निगम अफसर।

उज्जैन गुरुवार को वार्ड 47 और 48 के विवाद में उलझे नाला निर्माण कार्य को सुलझाने के लिए निगम के ऐसी ज्ञानेन्द्र सिंह जादौन और पार्षद विजय सिंह दरबार के बिच तीखी तकरार हुई। इस दौरान नीलगंगा पुलिस भी मौके पर पहुंची और दोनों पक्षों को समझाइश दी वहीं अधीक्षण यंत्री श्री जादौन ने निगम के सहायक राजस्व अधिकारी सुबोध जैन को जेसीबी और अन्य संसाधनों के साथ मौके पर बुलाया यहां निगम गैंग ने नाला निर्माण कार्य को शुरू करने की कार्रवाई की इस दौरान पार्षद विजय सिंह दरबार और कांग्रेस पार्षद विनु कुशवाहा ने नाले को सीधा करने के लिए निगम अधिकारियों से चर्चा की वही एमआईसी सदस्य सत्यनारायण चौहान और नील गंगा पुलिस मौके पर पहुंची और दोनों पक्षों को समझाती रही व्ही अधीक्षण यंत्री जादौन ने निगम के राजस्व अधिकारी सुबह जैन को jcb और अन्य संसाधनों के साथ मौके पर बुलाया यहां निगम गैंग में नाला निर्माण कार्य को शुरू करने की कारवाई की इस दौरान पार्षद विजय सिंह दरबार और कांग्रेस पार्षद विनु कुशवाहा नाले को शिधा बनाने की बात कहि। उल्लेखनीय है कि नाला निर्माण कार्य असल में विवाद के पीछे मुख्य वजह बिल्डर महेश कान ड़ी की कॉलोनी के गार्डन को बचाने की कोशिश है महापौर के निर्देश पर निगम अधिकारी नाला निर्माण कार्य को शुरू करवाने पर अड़े हुए हैं 2 दिन पूर्व भी इस स्थान पर विवाद की स्थिति निर्मित हुई थी जहां दोनों पक्षों के बीच तय हुआ था कि कार्य शुरू कराने के बाद नाला निर्माण कार्य शुरू कराया जाएगा ।हालांकि विवाद की मुख्य वजह बड़ा लेनदेन हे।

One thought on “नाला निर्माण विवाद में उलझे पार्षद और निगम अफसर।”

  1. सजग प्रहरी बनकर आपने जनता की आवाज मिडिया से लोगो तक पहुचाई

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *