उज्जैन न्यूज़क्राइम न्यूज़मध्य प्रदेश

हत्यारे बेटे को बचाने में माता पिता के साथ हो गई 16 लाख की ठगी।

उज्जैन। अपने बिगड़ैल हत्यारे बेटे को बचाने के उद्देश्य से आरोपी बेटे की माता और पिता ठगी का शिकार हो गए और ठगी भी कोई मामूली रकम की नही अपने जीवन भर की पूँजी करीब 16 लाख की हुई है। जिसकी पीड़ित मा ने उज्जैन के माधव नगर थाने में रिपोर्ट दर्ज कराई है।


क्या है मामला जाने


आरोपी सुनील परमार की माँ केशरबाई पति रघुनाथ परमार निवासी इशाक बैग की चाल झुग्गी झोपड़ी महानंदा नगर ने बताया कि उनके पुत्र द्वारा झाड़ला में रहने वाली काली बाई की हत्या दिसंबर 2018 मैं कर दी गई थी जिसके बाद सुनील पर हत्या का मामला न्यायालय में चल रहा था जिस पर राजीनामा करवाने की बात लेकर राजस्व कॉलोनी निवासी दलाल बाबूलाल मालवीय ने महिला केसरबाई से कहा कि वह मामला निपटा देगा एवं उसके बेटे सुनील को सजा नहीं होगी जिसकी एवज में राजीनामा कराने की बात को लेकर बाबूलाल मालवीय ने महिला से 16 लाख रुपए ले लिए। इसके बाद से सुनील परमार को पिछले दिनों न्यायालय ने आजीवन कारावास की सजा सुना दी।


सुनील को जब आजीवन कारावास हो गया तो महिला ने वापस कैलाश मालवीय से अपने दिए हुए पैसे मांगे तो कैलाश ने गाली गलौज देते हुए महिला को डरा धमका कर भगा दिया और पैसे देने से इनकार कर दिया।
महिला ने बताया कि उसके पति विक्रम विश्वविद्यालय में कर्मचारी थे जिनके रिटायरमेंट के 16 लाख रुपए रखे हुए थे जिन्हें हत्यारे बेटे को बचाने के लिए कैलाश को दिए थे मगर बेटे को उम्र कैद की सजा हो गई अब वापस पैसे मांगने पर वह नहीं दे रहा है। जिसकी महिला ने माधव नगर थाने में शिकायत की तो पुलिस भी सकते में आ गई जिस पर माधव नगर पुलिस ने आरोपी कैलाश मालवीय के खिलाफ 420 294 506 भादवी प्रकरण दर्ज किया है वह आरोपी को ढूंढ रही है।

Related Articles

Back to top button