टॉप न्यूज़भोपालमध्य प्रदेशराष्ट्रीय न्यूज़

CoronaVirus : भोपाल में 12 नए मामले जिसमे सात पुलिसकर्मी, इसके साथ ही मध्यप्रदेश में संक्रमित लोगों की संख्या बढ़कर 268 पर पहुंच गई

भोपाल में मंगलवार को कोरोना वायरस संक्रमण के 12 नए मामले सामने आए और इसके साथ ही मध्यप्रदेश में संक्रमित लोगों की संख्या बढ़कर 268 पर पहुंच गई। भोपाल में मंगलवार को पाए गए संक्रमण के 12 मामलों में सात पुलिसकर्मी एवं उनके परिवार के सदस्य और स्वास्थ्य विभाग के पांच कर्मचारी शामिल हैं

लोगों का जीवन ज्यादा महत्वपूर्ण: शिवराज चौहान
मध्यप्रदेश के सीएम शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि लोगों का जीवन ज्यादा महत्वपूर्ण है, अर्थव्यवस्था दोबारा खड़ी की जा सकती है, लेकिन अगर लोगों की मौत हुई तो उन्हें कैसे वापस लाएंगे? इसीलिए अगर जरूरी हुआ तो हम लॉकडाउन बढ़ाएंगे, हालात को देखकर फैसला लिया जाएगा।

मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कोरोना वायरस महामारी को फैलने से रोकने में मदद कर रहे पुलिसकर्मियों सहित प्रदेश सरकार के अन्य विभागों के कर्मचारियों को 50-50 लाख रुपये की बीमा सुरक्षा देने की मंगलवार को घोषणा की।

भोपाल भी बना हॉटस्पॉट
अब इंदौर के बाद भोपाल भी कोरोना का हॉटस्पॉट बन गया है। भोपाल में मंगलवार को कोरोना वायरस संक्रमण के 12 नए मामले सामने आए हैं। वहीं, भोपाल में पुलिस पर हमला करने के आरोप में पांच लोगों को राष्ट्रीय सुरक्षा कानून रासुका) के तहत गिरफ्तार किया गया है।

स्वास्थ्य विभाग के एक अधिकारी ने बताया कि भोपाल में मंगलवार को पाए गए संक्रमण के 12 मामलों में सात पुलिसकर्मी एवं उनके परिवार के सदस्य और स्वास्थ्य विभाग के पांच कर्मचारी शामिल हैं। उन्होंने बताया कि इन 12 नए संक्रमित लोगों को मिलाकर भोपाल में संक्रमण के मामलों की संख्या बढ़कर 74 हो गई है। इनमें से दो मरीजों को स्वस्थ होने के बाद अस्पताल से छुट्टी दे दी गई है और एक मरीज की मौत हो चुकी है।

राज्य में संक्रमण के कुल 268 मामलों में से इंदौर में सबसे अधिक 151 मरीज पाए गए हैं। स्वास्थ्य विभाग के बुलेटिन के अनुसार प्रदेश में अब तक 18 लोगों की इस संक्रमण से मौत हो चुकी है। मरने वालों में से 13 लोग इंदौर, दो उज्जैन और एक-एक छिंदवाड़ा, भोपाल और खरगोन का मरीज शामिल हैं।

भीड़ हटाने गई पुलिस पर 20 लोगों ने किया हमला, दो पुलिसकर्मी घायल
कोरोना वायरस संक्रमण के एक मरीज के संपर्क में आए लोगों का पता लगा रहे स्वास्थ्य कर्मियों के दल पर इंदौर में हुई पथराव की बहुचर्चित घटना के बाद मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल में लॉकडाउन (बंद) के दौरान भीड़ को हटाने गई पुलिस पर कथित रूप से हिस्ट्रीशीटरों सहित करीब 20 लोगों ने चाकुओं एवं डंडों से हमला कर दिया, जिससे दो पुलिसकर्मी घायल हो गए हैं। इन दोनों पुलिसकर्मियों पर चाकू से वार किया गया है।

मुख्यमंत्री बोले- रासुका के तहत हो कार्रवाई
इस मामले को गंभीरता से लेते हुए मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि दिन-रात एक कर जनता को इस महामारी से बचाने में लगे पुलिसकर्मियों पर हमला बर्दाश्त नहीं किया जाएगा और इन गुंडों के खिलाफ राष्ट्रीय सुरक्षा कानून (रासुका) के तहत कार्रवाई की जाएगी।

तलैया पुलिस थाना प्रभारी डीपी सिंह ने बताया कि भोपाल में लागू संपूर्ण बंद के कारण सोमवार रात करीब 10 बजे चार-पांच पुलिसकर्मी तलैया थाना के इस्लामनगर में भीड़ को हटाने पहुंचे थे। जैसे ही पुलिस ने भीड़ को हटने को कहा, तभी वहां मौजूद दो हिस्ट्रीशीटरों शाहिद कबूतर और मोहसिन कचौड़ी सहित करीब 20 लोगों ने चाकुओं, डंडों एवं पत्थरों से पुलिस दल पर हमला कर दिया। इस घटना में दो पुलिसकर्मी लक्ष्मण यादव एवं सतीश कुमार घायल हो गए।

पुलिसकर्मियों पर चाकू से किया हमला
उन्होंने कहा कि इन दोनों पुलिसकर्मियों पर चाकू से वार किया गया है। लक्ष्मण यादव को गर्दन के पास चाकू लगा है, जबकि सतीश कुमार को हाथ में चाकू मारा गया है। सिंह ने बताया कि दोनों घायलों को चिरायु अस्पताल में भर्ती कराया गया है। उन्होंने कहा कि वारदात के बाद सभी आरोपी मौके से फरार हो गए। आरोपी शाहिद कबूतर करीब 35 साल का है, जबकि मोहसिन कचौड़ी करीब 25-26 साल का है।

उन्होंने कहा कि इस मामले में हमने छह-सात नामजद और 10-12 अज्ञात आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है और उन्हें पकड़ने के लिए पुलिस की तीन पार्टियां रवाना कर दी गई है। हालांकि अभी तक किसी आरोपी को गिरफ्तार नहीं किया जा सका है।

Related Articles

Back to top button