उज्जैन न्यूज़रोग और संकेतलाइफ स्टाइलस्वास्थ्य टिप्स
Trending

शीत ऋतु में कोविड-19 नियंत्रण हेतु उपाय

उज्जैन । प्रभारी मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ.अनिता भिलवार ने  बताया कि वैश्विक महामारी कोविड-19 के एक्टिव केसेस की संख्या में लगातार गिरावट प्रतिवेदित है। सभी उपलब्ध इनपुट, मॉडल तथा अन्य देशों के अनुभव के अनुसार शीत ऋतु में कोविड-19 संक्रमण बढ़ने की अधिक संभावना है। यह साक्ष्य आधारित है कि सर्दी के मौसम में ठण्ड से पर्याप्त बचाव न होने पर रोग प्रतिरोध क्षमता में कमी कारण श्वसन की अधिकता होती है। कोविड-19 पॉजीटिव प्रकरणों की संख्या आगामी माहों मे बढ़ने का अनुमान है। शीत ऋतु में कोविड-19 क नियंत्रण हेतु नियमों का पालन अनिवार्य है।

  • जन-समुदाय में ठंड से समुचित बचाव के उपायों जैसे लम्बी आस्तीनवाले परिधानों का उपयोग, ऊनी कपड़े अथवा कई परतों वाले वस्त्र पहनना, सिर तथा तलवों को ठंड से बचाने, शारीरिक तापमान में आकस्मिक परिवर्तन से बचाव जैसे उपायों संबंधी जागरूकता लायें।
  • शीत ऋतु में प्रायः घरों मे खिड़की-दरवाजे बंद रखे जाने के कारण श्वसन संक्रमण जैसे सर्दी, खांसी, मौसमी फ्लू आदि की भी अधिकता देखी जाती है, जिसके बचाव के लिए शारीरिक दूरी, मास्क का उपयोग, बार-बार हाथों की स्वच्छता साबुन-पानी से हाथ धोकर अथवा सैनिटाईजर का उपयोग करें।
  • सर्दियों के मौसम में अक्सर धुआ अथवा प्रदूषणयुक्त हवा नीचे जमती है, जिससे श्वसन/हृदय रोग से ग्रस्त व्यक्तियों तथा बुजुर्गो को अधिक समस्या हो सकती है। अत: ऐसे संवेदनशील व्यक्तियों द्वारा घर से बाहर निकलने से परहेज किया जाये।
  • बंद तथा भीड़-भाड़ वाले स्थलों जैसे बाजार, मनोरंजन पार्क, थिएटर, आदि मे जाने से बचें। यदि ऐसे स्थलों पर जाना अत्यंत आवश्यक हो तो, सामुहिक जमावट वाले स्थलों पर कोविड-19 की रोकथाम हेतु समुचित नियमों का पालन करें।
Tags

Related Articles

Back to top button