क्राइम न्यूज़
Trending

फर्जी एडवाइजरी कंपनी का खेला… सत्ताधारी पार्षद का भी है, रेला…

एसटीएफ की नजरें शेखचिल्ली पर…
गुरुवार शाम जैसे ही उज्जैन एसटीएफ की टीम ने फ्रीगंज स्थित राठी भवन में फर्जी एडवाइजर कंपनी संचालित करने वाले एक गिरोह को पकड़ा।
 उसके बाद से ही अन्य फर्जी एडवाइजरी का धंधा करने वाले शेखचिल्लीओं में हड़कंप मच गया है, जिसके चलते शुक्रवार को इनके कार्यालय में   शासकीय अवकाश जैसा माहौल देखने को मिला।
दरअसल उज्जैन में नए और पुराने शहर में करीब एक दर्जन से भी अधिक फर्जी एडवाइजर कंपनियां बिना शेमी के रजिस्ट्रेशन के बगैर शहर में संचालन धडल्ले से हो रही है।
सत्ताधारी पूर्व पार्षद की निगरानी में भी…
राठी भवन में जिस तरह एसटीएफ की कार्रवाई हुई उसके बाद अपने आपको राठीजी ने इनोसेंट बता दिया, इन बंधु को पता ही नही था की इनके भवन में क्या चल रहा..! पुलिस की पूछताछ में भी पल्ला झाड़ते हुए आखिर झाड़ ही लिया कि साहब यह क्या होता है, हमे क्या मालूम…! हमें तो मर्जी मुताबिक किराए से मतलब है…! सूत्र बताते है की ऐसे ही एक और सत्ताधारी पूर्व पार्षद की निगरानी में भी एक फर्जी एडवाइजर कंपनी संचालित होने की खबर उज्जैन एसटीएफ को लगी है। बताया तो यह भी गया कि दिल्ली के नेता जैसे दिखने में इन्हें इतना मजा आया की इनकी राजनीति को खुद पार्टी ने मजाक बना दिया। अब इनकी गाड़ी की स्टेरिंग फिलहाल एसटीएफ के हाथ में है। 
खेर अगले अंक में पढ़िए पूरा मामला 
Back to top button