उज्जैन न्यूज़
Trending

ट्रूकॉलर पर SBFC बैंक कमिश्नर ऑफिस लिख, बांट रही गोल्ड लोन!

उज्जैन। आप ने भले ही अपने मोबाइल फोन पर ट्रूकॉलर डाउनलोड कर रखा हो जिससे आपको पता चल सके कि आपके मोबाइल फोन पर किसका फोन आ रहा है।

अक्सर लोग ट्रूकॉलर का उपयोग अपने मोबाइल फोन में इस लिए उपयोग करते हैं जिससे बैंक , फाइनेंस ,जीवन बीमा पॉलिसी जैसे अन्य प्राइवेट कंपनियों के बकवास फोन कॉल से बच सके, वहीं अपनी सहूलियत के हिसाब से इनसे बात कर सकें।

लेकिन इन बैंक व अन्य प्राइवेट फाइनेंस कंपनियों के मैनेजमेंट ने एक नया तरीका इजाफा कर लिया है जिससे आप इन बैंक कंपनियों का फोन इग्नोर कर ही न सके वहीं जब भी इनका फोन आए तो कितना भी जरूरी आपको काम क्यों ना हो उसे छोड़ इनका सबसे पहले फोन उठाए ही पड़ेगा।  

ऐसा ही कमाल इन दिनों एक बैंक दिखा रही है जो आज प्रकाश में आई है, दरअसल उज्जैन के फ्रीगंज क्षेत्र मैं सुंदर डेरी के पास स्थित एस.बी.एफ.सी बैंक शाखा के द्वारा जब इंदिरा नगर निवासी को फोन लगाया गया तो वह फोन के ट्रूकॉलर पर नाम पढ़ कर भौचक रह गया। दरअसल फोन कमिश्नर ऑफिस के नाम से आया था कमिश्नर ऑफिस के नाम से आए इस फोन ने युवक के कान खड़े कर दिए जिसके बाद युवक ने सजगता से फोन उठाया तो कम ब्याज दर पर गोल्ड लोन देने की बात कही गई।

जरूरी काम छोड़कर इस जागरूक युवक को यह तरीका पसंद नहीं आया तो उसने बैंक कर्मी को लताड़ लगाते हुए समझा ही दिया कि यह क्या तरीका हुआ बैंक का सरकारी विभाग के बड़े अधिकारियों के कार्यालय के नाम लगाकर फोन लगाना सही नहीं है इसकी में शिकायत करूंगा जिसके बाद बैंक द्वारा कमिश्नर ऑफिस का नाम लिखा हुआ हटा लिया गया।

उल्लेखनीय है कि अक्सर यह देखने में आता है कि ट्रूकॉलर पर लोग वरिष्ठ अधिकारियों के नाम सहित पुलिस विभाग के नाम से ट्रूकॉलर पर नंबर ऐड कर लेते हैं। और रौब झाड़ते हैं प्रशासन को जरूरत है कि ऐसे बैंक व लोगों को चिन्हित कर सख्त कार्रवाई करें।

Back to top button