उज्जैन न्यूज़
Trending

नर्सिंग होम का ये मैनेजर दिखता चंकी पांडे व बच्चन जैसी दाढ़ी रख खेल रहा कौन बना करोड़पति!

सूदखोरी का डर दिखाकर किया कईयों को कंगाल, नर्सिंग होम के मालिक भी जल्द दिखाएंगे इसे वापस गांव का रास्ता

उज्जैन। नर्सिंग होम का यह मैनेजर दरअसल देवास जिले के एक गांव से आकर  उज्जैन में  कब कैसे नटवर लाल बन गया इसकी जानकारी आज हम आपको देंगे! अपने मूलपेशे (मसाज थेरेपी) से हटकर इसने बड़े अनोखे कांड छोटी सी उम्र में  ही कर रखें है। चंकी पांडे जैसे दिखने वाला यह नर्सिंग होम का मैनेजर असल में बच्चन का प्रशंसक है, हाइट और हेल्थ में अदना रहने के बावजूद इसने बच्चन जैसी दाढ़ी रख रखी है। और महानायक की तरह ही कौन बना करोड़पति खेल भी खिलाता है  इस खेल का नाम सुनकर आप समझ ही गए होंगे कि इस खेल को खेलने वाले व्यक्ति को  भी कई सवालों के जवाब देना होते हैं जिसके बाद वह करोड़पति बन पाता है? इसी खेल को थोड़ा इंप्लीमेंट कर इस नटवरलाल ने अपने हिसाब से थोड़ा बदल रखा है। इस नटवरलाल नर्सिंग होम के मैनेजर का खेल दरअसल थोड़ा अलग होता है इस खेल में इस नटवरलाल के मुताबिक पैसा लगाने पर सुनहरे सपने दिखाए जाते जिसके बाद कुछ समय दिया जाता है और फिर यह कौन बना करोड़पति का करोड़पति बनाने का दावा भी करता है असल में लोग इसके बहकावे में तब आ जाते हैं जब यह खुद अपने आप को नर्सिंग होम का मैनेजर बताकर व अपनी लग्जरी ब्लैक कार से ठाट बाट का बैकग्राउंड तैयार कर लोगों को बेवकूफ बनाने पहुंचता है तो लोग इसके इस लग्जरी अंदाज को देखकर इसकी बातों में आ जाते हैं और अपनी गाढ़ी कमाई लालच में आकर इसे दे बैठते हैं। वापस पैसे मांगने पर उन्हें सूदखोरी जैसे प्रकरण में फसा देने की बात कर लोगों डरा देता है।
इसकी इस हरकत की खबर हॉस्पिटल मालिक को भी लग गई है…जिसके बाद हॉस्पिटल मालिक भी इसे वापस इसके गांव भेजने की तैयारी में है।
इसकी हमे  डराने की कोशिश भी हुई ना कामयाब
शहर में कोई समझा हो या ना समझा हो मगर यह नर्सिंग होम का मैनेजर नटवरलाल समझ गया कि इसका चलाया हुआ खेल अब ज्यादा दिन का नहीं है इसकी उल्टी गिनती शुरू हो चुकी है जिसके बाद इसने कई दादा पहलवान और रसूखदारो से मिलकर हमसे इसने फोन पर संपर्क किया और इसकी पसंदीदार जगह  हमें मिलने बुलाया…  फिर इसने मिलते ही साम,दाम, दंड, भेद सारे तरीके अपना कर अपने सतरंगी दोस्तों से हमें डराने की भी कोशिश की साथ ही अपने इस गलत  काम में भागीदार बनाने तक का ऑफर दे दिया लेकिन शिकायतकर्ता हमें इसके इस कृत्य से पहले ही रूबरू करवा चुके थे की फसने पर यह ऐसे ही ऑफर देता है। पहले तो हमने भी इसके और राज उगला ने  के  चक्कर में इसकी हा में हा भरी जिसका आगे खुलासा हम जल्द करेंगे।
  
Back to top button