अंतरराष्ट्रीय न्यूज़उज्जैन न्यूज़खुलासाटॉप न्यूज़मध्य प्रदेशराष्ट्रीय न्यूज़

उज्जैन एसपी ने विकास दुबे की गिरफ्तारी को लेकर ली प्रेस कॉन्फ्रेंस मीडिया के कई सवालों पर एसपी ने साधी चुप्पी..

राजस्थान के रास्ते से दाखिल हुआ विकास उज्जैन में, महाकाल मंदिर से पुलिस ने धर दबोचा, विकास दुबे को फूल वाले ने पहचाना और उसकी आशंका पर पकड़ाया गैंगस्टर…

अमित नागर/धर्मेन्द्र सिरोलिया
उज्जैन। गैंगस्टर विकास दुबे की गिरफ्तारी को लेकर आज रात 8:30 बजे उज्जैन एसपी मनोज कुमार सिंह ने कंट्रोल रूम पर प्रेस वार्ता लेकर गैंगस्टर विकास दुबे की उज्जैन महाकाल मंदिर से गिरफ्तार होने के बारे में स्पष्ट किया। लेकिन मीडिया के कई सवालों पर एसपी चुप्पी साधे रहे। कुछ सवाल ऐसे हैं जो अभी भी छूटे हुए हैं एसपी मनोज कुमार सिंह ने पत्रकारों को बताया कि गुरुवार सुबह 7.30 बजे के लगभग गैंगस्टर विकास दुबे महाकाल दर्शन करने के लिए पहुंचा था सबसे पहले विकास दुबे ने महाकाल मंदिर के बाहर फुल सामग्री वाले राजेश माली से फूल खरीदें तथा मंदिर में काउंटर पर जाकर 250 रूपए की पर्ची कटवाई और महाकाल दर्शन के लिए जाने लगा। इसी बीच फूल वाले राजेश माली को उस पर शंका हुई और उसे ऐसा लगा कि यही यूपी का गैंगस्टर विकास दुबे है जो 8 पुलिसवालों की हत्या कर दी से भाग है इस शंका के आधार पर उसने तुरंत अपने एक परिचित राहुल नामक व्यक्ति को इस बारे में बताया और राजेश और राहुल दोनों महाकाल चौकी पर पहुंचे। तथा उन्होंने इस बारे में महाकाल चौकी पर उपस्थित पुलिसकर्मी को बताया इसके बाद पुलिस कर्मी उसके पास पहुंचे तथा उन्होंने जब उस से नाम पूछा तो विकास दुबे ने पहले तो पुलिसकर्मियों को अपना गलत नाम बताया लेकिन संदेह होने पर पुलिस ने उसे अपनी कस्टडी में लेकर पूछताछ की तो उसने यह स्वीकार कर लिया कि वही कानपुर का विकास दुबे है इसके बाद उसे पुलिस कर्मी महाकाल थाने ले आए और वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों को इस बारे में जानकारी दी। एसपी मनोज कुमार सिंह ने बताया कि यूपी पुलिस से संपर्क विकास दुबे के बारे में जानकारी जुटाई गई तो यह स्पष्ट हो गया कि जो महाकाल से पकड़ा है वह सही मैं गैंगस्टर विकास दुबे ही है तथा इसके बाद यूपी एसटीएफ टीम विकास दुबे को लेने के लिए उज्जैन के लिए रवाना हो गई और शाम को उज्जैन पुलिस ने यूपी एसटीएफ टीम के उज्जैन पहुंचने पर विकास दुबे को उनके सुपुर्द कर दिया। लेकिन जब पत्रकार वार्ता के दौरान एसपी मनोज कुमार सिंह से मीडिया कर्मियों ने कुछ सदेह भरे सवालों के जवाब जानना चाहे तो एसपी उस पर चुप्पी सादते रहे हालांकि यह जरूर पता चला है कि विकास दुबे जयपुर के रास्ते से उज्जैन में दाखिल हुआ था तथा या आकर वह सीधे महाकालेश्वर मंदिर दर्शन के लिए पहुंचा सबसे अहम सवाल ये था कि आखिर विकास दुबे जयपुर से उज्जैन किस वाहन से आया इस पर भी पुलिस ने चुप्पी साधी जबकि पकड़ाने के पहले ही सुबह महाकाल मंदिर मे पकड़ आने के बाद पता चला था कि विकास दुबे एक कार से उज्जैन पहुंचा है तथा इस सवाल पर भी उज्जैन पुलिस ने किनारा कर लिया की क्या विकास दुबे ने खुद सरेंडर किया है या उसे गिरफ्तार किया गया है।

Tags

Related Articles

Back to top button