उज्जैन न्यूज़क्राइम न्यूज़टॉप न्यूज़मध्य प्रदेश

विडिओ : चौराहे पर मजिस्ट्रेट की सख्त कारवाही, और थाना प्रभारी का आराम

माधव नगर थाना प्रभारी के आगे मजिस्ट्रेट भी है फीके… पूछने पर बोले ये तो नगर निगम का काम है।

उज्जैन में हँसी ठिठोली बना रविवार आज का लाकडाउन….
जिम्मेदार अधिकारियों की भी चालान काटने में ज्यादा रुचि, जबकि जरूरत है, कोई सख्त कार्रवाई की।

उज्जैन। मध्य प्रदेश सरकार द्वारा प्रदेश भर में प्रति रविवार को लाकडाउन जारी कर रखा है। लाकडाउन में शहर की आम जनता को घर में ही रहना है न कि घर से निकलना है। और अगर कोई फिर भी घर से बिना जरूरी काम के निकले तो ऐसे समाज के दुश्मनो पर चालानी कारवाही के साथ ही जिमेदारो को सख्त कार्रवाई भी करना होगी। लेकिन उज्जैन जिले में तस्वीर कुछ और ही निकल कर सामने आई है।

उज्जैन जिले में आज रविवार का लाकडाउन असफल साबित हुआ दुकाने तो बंद थी मगर सड़को पर दो पहिया चार पहिया वाहनों का जाम लगा रहा। पुलिस प्रशासन ने जगह-जगह चौराहों पर बेरीगेटिंग व पुलिस के दो काबिल जवानों को भी ड्यूटी पर लगा रखा था, जो न ही वाहनों को रोक के पूछ रहे थे कि भैया लाकडाउन में कहा जा रहे हो!

तीन बत्ती चौराहे पर मजिस्ट्रेट की सख्त कारवाही, और थाना प्रभारी का आराम।

रविवार लॉक डाउन का पालन कराते हुए देवास गेट और माधव नगर थाने के सिटी मजिस्ट्रेट आलोक व्यास ने तीन बत्ती चौराहे पर बड़ी चालानी कार्रवाई करते हुए कई लोगों के चालान काटे। वही थाना माधव नगर के थाना प्रभारी प्रेम नारायण शर्मा अपनी गाड़ी में आराम फरमाते देखे गए पूछने पर बोले की ये मेरा काम नही है। मेरा काम तो गाड़ी में बैठकर नजर रखना है! ये नगर निगम की कार्यवाही है। जब थाना प्रभारी से मीडिया ने पूछा कि जब मजिस्ट्रेट साहब कारवाही कर रहे है, तो आप भी आ जाओ तो थाना प्रभारी साहब कहते है कि, ये तो नगर निगम के ऊर्जा विभाग के प्रभारी है। मजिस्ट्रेट तो अभी बने है। जिस पर पास खड़े कुछ पुलिसकर्मी में भी मन ही मन ठहाके लगाए, तो एक मीडियाकर्मी ने इन समझदार साहब से धीरे से पूछ ही लिया की क्या साहब नायक फ़िल्म नही देखी है? आपने एक दिन का सीएम तो अनिल कपूर भी बना था तो क्या उसमे कोई काम नही किया था। जिसपर साहब कंन्नी काट गए।
तो भैया ऐसे सवालो का सही जवाब तो ऐसे थाना प्रभारी ही दे सकते हैं, जिन्हें हम कोरोना योद्धा भी कहते हैं। तो अब ऐसे काबिल थाना प्रभारी को तो जल्द एसपी साहब को पद उन्नति दे ही देना चाहिए।

Tags

Related Articles

Back to top button